आईपीसी की प्रमुख धाराएं | IPC Section in Hindi (Indian Penal Court) MP Police SI Exam ask Question in IPC section कानूनी धारा लीस्‍ट इन हिंदी IPC Dhara in Hindi List 2021

जानिए इंडियन पीनल  में धारा का क्या मतलब होता है

 धारा 302-  यह धारा किसी व्यक्ति पर तब लगाई जाती है जब उस व्यक्ति ने किसी की हत्या की हो यह एक हत्या  के लिए दंड है इसमें उम्र कैद से लेकर मृत्युदंड तक के प्रावधान है

 धारा 307-  किसी व्यक्ति पर जब हत्या की कोशिश का मुकदमा दर्ज होता है तो यह धारा लगाई जाती है इसमें 10 साल के कारावास तक का प्रावधान है यह एक गैर  जमानती अपराध है तथा आर्थिक दंड भी है

 धारा 376- यह धारा आरोपी पर किसी का शारीरिक शोषण या बलात्कार करने पर लगाया जाता है इस धारा में 7 वर्ष से लेकर आजीवन कारावास तक का प्रावधान है

 धारा 376 डी यह धारा इंडियन पीनल कोर्ट के  संगीन अपराधों की धारा है- यह धारा जब लगाई जाती है जब किसी का  सामूहिक रूप से बलात्कार किया गया हो इसमें 20 साल तक की सजा का प्रावधान है या मृत्यु दंड भी दिया जा सकता है

 धारा 377-  किसी व्यक्ति द्वारा जब किसी प्रकार के अप्राकृतिक कृत्य किए जाते हैं तो यह धारा लगाई जाती है इसमें 10 साल की सजा से लेकर उम्रकैद तक के प्रावधान है

 धारा 395- डकैती की स्थिति में यह धारा लगाई जाती है  किसी व्यक्ति द्वारा जब कहीं पर डकैती की जाती है तो यह धारा लगाई जाती है इसमें 10 वर्ष से लेकर आजीवन कारावास का प्रावधान है यह एक गैर जमानती अपराध है 

 धारा 396-  यह धारा तब लगाई जाती है जब कहीं पर डकैती की गई हो तथा डकैती के दौरान हत्या भी की गई हो तब यह धारा लगाई जाती है इसमें 10 साल की सजा/ मृत्यु दंड/ आजीवन कारावास  यह एक गैर जमानती अपराध है

 धारा 120-  किसी व्यक्ति द्वारा जब किसी अन्य व्यक्ति के लिए षड्यंत्र  रचा जाता है तब यह धारा लगाई जाती है  

 धारा 365-  यह धारा किसी व्यक्ति का अपहरण करने पर लगाई जाती है इसमें 7 वर्ष तक के कारावास का प्रावधान है 

 धारा 201  धारा 201 तब लगाई जाती है जब अपराधों के सबूत के साथ छेड़छाड़ की गई हो या उन्हें मिटाने की कोशिश किया गया हो

 धारा 34-   यह समान आशय  कि संबंध में लगाई जाती है

 धारा 412- यह धारा किसी भी प्रकार की छीना झपटी में लगाई जाती है

 धारा 378- चोरी करने की स्थिति में यह धारा लगाई जाती है

 धारा 441- यह धारा  विधि के विरुद्ध जमाव की स्थिति में लगाई जाती है

 धारा 191-  यह धारा झूठे सबूत देने  की स्थिति में लगाई जाती है 

धारा 427-  संपत्ति के नुकसान करने के रूप में यह धारा लगाई जाती है

 धारा 300-  हत्या करने की स्थिति में यह धारा लगाई जाती है

 धारा309-  आत्महत्या की कोशिश करने की स्थिति में यह धारा लगाई जाती है इसमें 1 वर्षों तक का है कारावास का प्रावधान है

 धारा 310- ठगी करने की स्थिति में यह धारा लगाई जाती है

Section

 IPC Section in Hindi (Indian Penal Court) 

धारा 312-   जब किसी का गर्भपात  उसकी मर्जी के बिना कराने पर यह धारा लगाई जाती है

 धारा 351-  यह धारा किसी व्यक्ति पर जानलेवा हमला करने की स्थिति में लगाई जाती है

 धारा 354-  जब किसी स्त्री को किसी के द्वारा जलील किया जाता है या उसकी लज्जा भंग की जाती है तो यहां धारा लगाई जाती है

 धारा 354  घ यह धारा  किसी महिला का पीछा करना उससे छेड़छाड़ करना पर लगाई जाती है

 धारा 362-  अपहरण करने की स्थिति में यह धारा लगाई जाती है

 धारा 369-   यह धारा तब लगाई जाती है जब किसी 10 वर्ष से कम आयु के बच्चे को चोरी करने या उसका अपहरण करने की कोशिश की जाती है तब लगाई जाती है

 धारा 415-  जब किसी से छल किया जाता है तब यह धारा लगाई जाती है

 धारा 445- यह धारा गृह भेदन/ किसी का घर तोड़ने की स्थिति में लगाई जाती है

 धारा 494-   पति/ पत्नी के जीवन काल में पहले पति के होते हुए या पत्नी के होते हुए पुनः विवाह करने की स्थिति में यह धारा लगाई जाती है

 धारा 499 मानहानि का दावा पेश करने के लिए यह धारा लगाई जाती है

 धारा -511- यह धारा किसी व्यक्ति पर आजीवन कारावास से दंडित करने के प्रयत्न के लिए दंड के रूप में लगाई जाती है

 धारा 452- बिना अनुमति के किसी के घर में घोषणा और उसे चोट पहुंचाने के लिए हमले की तैयारी करना के लिए ,तथा गलत तरीके से दबाव बनाने के लिए यह धारा लगाई जाती है  इसमें दंड के रूप में 7 साल का कारावास है यह एक गैर जमानती संगे अपराध है

Technical terminology

more

Reach out

Find us at the office

Mcevilly- Liposky street no. 40, 55778 Tórshavn, Faroe Islands

Give us a ring

Maliek Elvis
+23 188 845 957
Mon - Fri, 7:00-15:00

Say hello